ध्यान-अभ्यास में तरक़्क़ी करने के लिये अगर हम अपने मन को पूर्ण रूप से शांत करना चाहते हैं, तो हमें क्षमा करना सीखना होगा। परम पूज्य संत राजिंदर सिंह जी महाराज