जब हम दूसरों की ओर क्रोध और घृणा भेजते हैं, तो वो वापस पलटकर हम तक अवश्य आते हैं। परम पूज्य संत राजिंदर सिंह जी महाराज